भारत वन स्थिति रिपोर्ट -2019

भारत वन स्थिति रिपोर्ट -2019

केंद्रीय पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री ने भारतीय वन सर्वेक्षण (forest Survey of India ) द्बारा प्रकाशित भारत वन स्थिति रिपोर्ट -2019 को जारी की गई इस रिपोर्ट के मुख्य तथ्य निम्नलिखित है :-

कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का वनावरण क्षेत्र : 7,12,249 वर्ग किमी. (21.67%)
घने वन :99,278 वर्ग किमी (3.02%)
मध्यम घने वन : 3,08,472 वर्ग किमी ( 9.39 %)
विवृत वन : 3,04,499 वर्ग किमी (9.26%)
झाड़ियां : 46,297 वर्ग किमी ( 1.41 %)

वृक्षों से आच्छादित क्षेत्रफल में वृद्धि : 1,212 वर्ग किमी. (1.29%)

भारत में बाँस भूमि लगभग 1,60,037 वर्ग किमी. है। ISFR-2017 की तुलना में कुल बाँस भूमि में 3,229 वर्ग किमी. की वृद्धि हुई है।

इस रिपोर्ट अनुसार भारत में वनों को 17 प्रकार में बांटा हैl उषणकटिबंधीय शुष्क पर्णपाती वन का क्षेत्रफल 3,13,617 वर्ग किमी है,(40.86% ) जो सर्वाधिक है l उषणकटिबंधीय नम पर्णपाती वन का क्षेत्रफल 1,35,492 वर्ग किमी है (17.65 %)जो दूसरे स्थान पर है l 71,171वर्ग किमी के साथ उष्णकटीबंधीय अर्ध सदावहार वन तीसरे स्थान(927 ) पर है l

उत्तर-पूर्व क्षेत्र में कुल वनावरण क्षेत्र 1,70,541 वर्ग किमी. है जोकि इसके कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 65.05% है।

सर्वाधिक वन क्षेत्रफल वाले राज्य:

मध्य प्रदेश77,482 वर्ग किमी.
अरुणाचल प्रदेश66,688 वर्ग किमी.
छत्तीसगढ़55,611 वर्ग किमी.
ओडिशा51,619 वर्ग किमी.
महाराष्ट्र50,778 वर्ग किमी.

सर्वाधिक वनावरण प्रतिशत वाले राज्य:

मिज़ोरम85.41%
अरुणाचल प्रदेश79.63%
मेघालय76.33%
मणिपुर75.46%
नगालैंड75.31%

वन क्षेत्रफल में वृद्धि वाले शीर्ष राज्य:

कर्नाटक1,025 वर्ग किमी.
आंध्र प्रदेश990 वर्ग किमी.
केरल823 वर्ग किमी.
जम्मू-कश्मीर371 वर्ग किमी.
हिमाचल प्रदेश334 वर्ग किमी.

Source: FSI Report

भारत वन स्थिति रिपोर्ट -2019

Leave a Reply