River System of Himachal Pradesh (हिमाचल में नदियों का प्रवाह तंत्र)

River System of Himachal Pradesh (हिमाचल में नदियों का प्रवाह तंत्र)

Read more: हिमाचल प्रदेश के वन्यजीव अभयारण्य

  1. निम्नलिखित में से किस नदी का उल्लेख वेदो में नहीं हुआ है ?
    A) सतलुज
    B) ब्यास
    C) यमुना
    D) पार्वती
    उतर-:D) पार्वती

व्याख्या :-(River System of Himachal Pradesh)

पार्वती नदी को छोड़कर सभी का ऋग्वेद में उल्लेख हुआ है। इसमे चिनाब नदी को अस्किनी, रावी नदी को पुरुषुणि, ब्यास नदी को अर्जिक्या और यमुना नदी का उल्लेख कालिंदी के नाम से हुआ है।

सतलुज :-

सतलुज हिमाचल की सबसे लंबी नदी है इसकी उत्पत्ति तिब्बत में रक्षताल झील से होती है। यह हिमाचल में किन्नौर जिले में शिपकी पास के समीप प्रवेश करती है। इसकी हिमाचल में कुल लंबाई 320 किलोमीटर है। कल्पा, रामपुर, तत्तापानी, सुन्नी और बिलासपुर इसके किनारे बसे प्रमुख कस्बे हैं। बसपा, स्पीति, न्यूगली और सोन इसकीप्रमुख सहायक नदियां हैं। वर्तमान में सबसे अधिक जल विद्युत परियोजनाएं इसी नदी पर कार्यान्वित की जा रही है। इसकी कुल विद्युत उत्पादन क्षमता का आकलन10000 मेगा वाट किया गया है।

ब्यास :-

ब्यास नदी रोहतांग पास के समीप दो धाराओं में निकलती है, जिसकी पहली धारा व्यास ऋषि जगह से निकलती है और दूसरी व्यास कुंड से। दोनों मनाली से 10किलोमीटर दूर पलचान गांव के समीप मिलकर व्यास का रूप लेती है। नगर, कटराइं, रायसन, कुल्लू मनाली, सुजानपुर, नादौन, देहरा-गोपीपुर, पण्डोह और मंडी इसके किनारे बसी कुछ प्रमुख मानव बस्तियां और कस्बे हैं। पार्वती, बनेर, बानगंगा, चक्की, गज खड, लूनी नदी और मलाना खड़ इसकी प्रमुख सहायक नदियां हैं।

यमुना :-

यमुना नदी जिसे कालिंदी के नाम से भी जाना जाता है उत्तराखंड में गढ़वाल के नजदीक यमुनोत्री जगह से उत्पन्न होती है और हिमाचल में सिरमौर के पास खादर मंजरी मे प्रवेश करती है। जलाल, मारकंडा, बाटा, गिरी आंध्रा, अश्विनी, टौंस और पवर इसकी प्रमुख सहायक नदियां है।

पार्वती :-

पार्वती ब्यास की सहायक नदी है। यह मानतलाई झील से निकलती है और कुल्लू में शमशी के पास व्यास नदी में मिलती है। कसोल और मणिकरण इसके किनारे बसी प्रमुख मानव बस्तियां है।

  1. अलेक्जेंडर महान के इतिहासकारों ने हिमाचल की किस नदी को हाइड्रस कहा है?
    A) सतलुज
    B) ब्यास
    C) यमुना
    D) रावी
    उतर-:D) रावी

व्याख्या :-

अलेक्जेंडर महान के इतिहासकारों ने हिमाचल की रावी नदी को हाइड्रस कहा है।रावी धौलाधार की शाखाओं में स्थित बड़ा बंगाल से निकलती है। इसके मुख्य जल स्त्रोत भादल और तंता गिरी ग्लेशियर है। भरमौर, माधवपुर और चंबा इसके किनारेबसी प्रमुख मानव बस्तियां और कस्बे हैं। भादल, सियोल, बैरा, और तंता गिरी इसकी प्रमुख सहायक नदियां हैं।

  1. निम्नलिखित में से पिन वैली राष्ट्रीय पार्क किस नदी के किनारे स्थित है?
    A) चंद्रा
    B) भागा
    C) बसपा
    D) स्पिती
    उतर-:D) स्पिती

व्याख्या :-

स्पीति नदी कुंजम दर्रे से निकलती है। यह नमगियां किन्नौर जिले में सतलुज से मिलती है। तेग्पो और खाब्जिन इसकी सहायक नदियां है। पिन वैली राष्ट्रीय उद्यान इसी के किनारे स्थित है।

चंद्रा नदी लाहौल-स्पीति में चंद्रताल से जबकि भागा नदी सूरज ताल से निकलती है और दोनों नदी तांदी नामक स्थान पर मिलकर चिनाब का रूप ले लेती है।
बसपा नदी बसपा पहाड़ी से निकलती है और कड़छम में आकर सतलुज नदी से मिलती है।

  1. हिमाचल प्रदेश की किस नदी पर किशाऊ बहुउद्देशीय बांध परियोजना बनाई जा रही है?
    A)सतलुज
    B)व्यास
    C)पब्बर
    D)टोंस
    उतर:- D) टॉन्स

व्याख्या :-

किशाऊ बहुउद्देशीय बांध परियोजना यमुना की सहायक नदी टौंस पर बनाई जा रही है। उत्तराखंड की सीमा के साथ सटा हुआ यह बांध 660 मेगावाट की विद्युत उत्पादन क्षमता हासिल करने में सहायक होगा ।इस प्रोजेक्ट की स्थापना के लिए हिमाचल और उत्तराखंड सरकार द्वारा 20 जून 2015 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे। भारत सरकार द्वारा इसे राष्ट्रीय परियोजना घोषित किया गया हैl

  1. गर्नी और सन काली निम्न में से किसकी सहायक नदियां है?
    A)बसपा
    B)स्पीति
    C)स्वान
    D)बानगंगा
    उतर:-C)स्वान

व्याख्या :-

गर्नी और सन काली स्वान की सहायक नदियां है। स्वान नदी ऊना में बहने वाली एक प्रमुख नदी है। इस नदी में अक्सर बरसात में बाढ़ आ जाती है और ऊना में हर वर्षइससे लोगों का बहुत नुकसान होता है। बाढ़ आने की बारंबारता के कारण इस नदी को ऊना में दुखों का दरिया के नाम से भी जाना जाता है।

River System of Himachal Pradesh (हिमाचल में नदियों का प्रवाह तंत्र)

Leave a Reply