HP Current Affairs -3rd Week of February 2022

HP Current Affairs -3rd Week of February 2022

  1. माल और सेवा कर में सम्मिलित अधिनियमों के तहत लंबित मामलों और बकाया राशि के निपटान के लिए हिमाचल सरकार ने कौन सी योजना आरम्भ की ?
    उत्तर : हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती’’ योजना (विरासत मामले समाधान) 2021

व्याख्या : माल और सेवा कर में सम्मिलित अधिनियमों के तहत लंबित मामलों और बकाया राशि के निपटान के लिए ‘‘हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती’’ योजना (विरासत मामले समाधान) 2021 आरम्भ की गई है। इससे करदाताओं को अनिवार्य दस्तावेज प्राप्त करने में सहायता मिलेगी। जीएसटी लागू होने के बाद भी करदाताओं के कर संबंधी मामलों के विवाद रह गए हैं। इस योजना के तहत, डीलर योजना के पहले चरण के दौरान ब्याज और जुर्माने के स्थान पर 10 प्रतिशत की दर से निपटान शुल्क के साथ अपना देय कर जमा कर सकते हैं, जिसकी अवधि 28 अप्रैल, 2022 को समाप्त होगी।

  1. चीड़ की पत्तियों से रेशा निकालने की तकनीक के हस्तांतरण के लिए हिमाचल वन विभाग ने किसके साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए ?
    उत्तर : वन अनुसंधान संस्थान देहरादून

व्याख्या : वन अनुसंधान संस्थान देहरादून के सहयोग से हिमाचल प्रदेश वन विभाग द्वारा जिला मुख्यालय नाहन में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। वन अनुसंधान संस्थान देहरादून की रसायन विज्ञान और बायोप्रोस्पेक्टिंग प्रभाग ने चीड़ की पत्तियों से रेशा निकालने के लिए एक आसान पर्यावरण के अनुकूल तकनीक विकसित की है।

इस प्रौद्योगिकी को पहली बार हिमाचल प्रदेश राज्य में अपनाया जा रहा है। इस तकनीक के हस्तांतरण के लिए हिमाचल प्रदेश वन विभाग और वन अनुसंधान संस्थान देहरादून के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

  1. हिमाचल प्रदेश का पहला जैव विविधता पार्क कहाँ पर स्थापित किया गया ?

उत्तर : भुलाह (जंजैहली, सराज घाटी) जिला मंडी।

व्याख्या : जिला मंडी की जंजैहली घाटी में स्थित भूलाह में हिमालय की दुलर्भ जड़ी बूटियों को संरक्षण होगा। एक करोड़ की लागत से तैयार इस पार्क से देश-विदेश के शोधकर्ताओं, पर्यटकों और विलुप्त हो रही बूटियों को संरक्षण मिलेगा। यह प्रदेश का पहला बायोडायवर्सिटी पार्क (जैव विविधता उद्यान) है। इसे हिमाचल प्रदेश वन विभाग की ओर से नेशनल मिशन आन हिमालयन स्टडीज (एनएमएचएस) प्रोजेक्ट के तहत बनाया गया है। पार्क को पयर्टन गतिविधियों से जोडऩे के साथ शोधकर्ताओं के लिए हिमालय में पाई जाने वाली विभिन्न औषधीय जड़ी-बूटियों (हर्बल प्लांट्स) पर शोध करने के नए मौके देने के लिए भी तैयार किया है।

  1. एशियन अल्पाइन स्कीइंग चैंपियनशिप 2022 में हिमाचल प्रदेश के कितने खिलाड़ी भाग ले रहे हैं?

उत्तर : चार खिलाड़ी।

व्याख्या : लेबनॉन में 24 और 25 फरवरी 2022 को हो रही एशियन अल्पाइन स्कीइंग चैंपियनशिप में कुल्लू जिले के मनाली की संध्या ठाकुर, तनुजा ठाकुर, अभिषेक ठाकुर और निखिल ठाकुर भाग ले रहे है। इनके अलावा इस स्पर्धा में दो खिलाड़ी जम्मू और कश्मीर के भी भाग ले रहे हैं। इस प्रतियोगिता में भारत के अलावा चीन, जापान, दक्षिण कोरिया और सिंगापुर सहित एक दर्जन देशों के खिलाड़ी भाग लेंगे।

  1. हिमाचल प्रदेश के किस स्थान पर केरल और कनाडा के तर्ज पर डिजिटल विश्वविद्यालय बनाया जाएगा?

उत्तर : सुंदरनगर ।

व्याख्या : हिमाचल प्रदेश के सुंदरनगर में केरल और कनाडा की तर्ज पर डिजिटल विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा। मंडी जिले के इंजीनियरिंग कॉलेज सुंदरनगर को इसके लिए अपग्रेड करने की तैयारी शुरू हो गई है। डिजिटल विश्वविद्यालय से आईटीआई, पॉलीटेक्निक, इंजीनियरिंग संस्थानों को संबद्ध किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने इस बाबत केंद्र को प्रस्ताव भेजा है। विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा। साइबर सिक्योरिटी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन, कृषि और बागवानी के कोर्स डिजिटल विश्वविद्यालय के माध्यम से करवाने की योजना है।

  1. रेणुकाजी वेटलैंड में इस बार किस प्रवासी पक्षी को पहली बार देखा गया ?

उत्तर : साइबेरियन घड़ियाल।

व्याख्या : रेणुकाजी वेटलैंड में साइबेरियन घड़ियाल पक्षी को पहली बार देखा गया।

  1. हाल ही में राज्य सरकार ने एंटी फ्रीजिंग पेयजल परियोजना को मंजूरी दी गई। इसकी शुरुआत हिमाचल के किस स्थान से की जा रही है?

उत्तर : केलॉन्ग लाहौल स्पीति)

व्याख्या : राज्य सरकार ने प्रदेश में पहली बार एंटी फ्रीजिंग पेयजल परियोजना को मंजूरी दी है, जिसके लिए 13.19 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। इससे घाटी में माइनस 15 डिग्री तापमान में भी पाइपों में पीने का पानी नहीं जमेगा।परियोजना के लिए तीन परत वाले पानी के पाइप इस्तेमाल होंगे। जल शक्ति विभाग इस पेयजल परियोजना को लाहौल के मुख्यालय केलांग में शुरू करने जा रहा है।

HP Current Affairs -3rd Week of February 2022

Read Also : More Current Affairs of Himachal Pradesh

Leave a Reply