Fair And Festival of District Kinnaur | किन्नौर जिले के त्यौहार

Fair And Festival of District Kinnaur | किन्नौर जिले के त्यौहार हिमाचल प्रदेश के जिला किन्नौर में अनेक प्रकार के मेले तथा त्यौहार मनाए जाते हैं। जिनकी अपनी एक अलग विशेषताएं। मेले और त्यौहार क्षेत्र की संस्कृति ,रीति-रिवाजोंऔर रहन सहन को दर्शाते हैं। किन्नौर जिला के कुछ महत्वपूर्ण मेले…

0 Comments

Banjar Fair District Kullu Himachal Pradesh

Banjar Fair District Kullu Himachal Pradesh यह मेला ज्येष्ठ संक्रान्ति के तीसरे दिन मनाया जाता है। इसमें श्रृंगी ऋषि तथा इसी क्षेत्र के अन्य देवता सम्मिलित होते हैं। यह भीतरी सिराज का सबसे बड़ा मेला है जो तीन दिन तक मनाया जाता है। श्रृंगी ऋषि का मन्दिर 'बागी गांव'…

0 Comments

Bhunda Festival of Nirmand District Kullu

Bhunda Festival of Nirmand District Kullu भारत में पहले नर बलि की प्रथा थी। भूण्डा भी नर बलि का त्यौहार है। कुल्लू जिला में इसे 'बला' (भीतरी सिराज) तथा निरमण्ड (बाहरी सिराज) में प्रमुख रूप से मनाया जाता रहा है। 'बला' जहां मार्कण्डेय ऋषि और बाला सुन्दरी के मंदिर…

0 Comments

बूढ़ी दिवाली | निरमण्ड की बूढ़ी दिवाली : जिला कुल्लू

बूढ़ी दिवाली | निरमण्ड की बूढ़ी दिवाली : जिला कुल्लू यह दिवाली प्राचीन काल से कुल्लू क्षेत्र में मनायी जाती है। इस दीवाली का दीपावली से कोई संबंध नहीं है। यह दीपावली से ठीक एक मास बाद मार्गशीर्ष की अमावस्या को मनाई जाती है। रात्रि को भिन्न-भिन्न दिशाओं से…

0 Comments

नगर गनेड़ उत्सव – जिला कुल्लू (हि.प्र.)

नगर गनेड़ उत्सव - जिला कुल्लू (हि.प्र.) यह उत्सव पौश मास के अमावस्या के चार दिन पश्चात होता है। एक व्यक्ति जिसे जठियाली कहते हैं, के सिर पर पुराने समय से रखे हुये भेड़ के सींग लगाते हैं। उसे मूसल पर बैठा कर कन्धे पर उठाते हैं और गांव…

0 Comments

पीपल जातर (Peepal Jaatar) ढालपुर-जिला कुल्लू

पीपल जातर (Peepal Jaatar) ढालपुर-जिला कुल्लू यह मेला अप्रैल मास के अन्तिम दिनों में ढालपुर के मैदान में मनाया जाता है। यहाँ पर एक पीपल और चबूतरा होता था। चबूतरे पर कुल्लू राजा अपने दरबारियों के साथ मेला देखता था और पीपल के सामने नाटी होती थी। उस पीपल…

0 Comments

Kahika Fair (Mela) of District Kullu HP

Kahika Fair (Mela) of District Kullu HP काहिका कुल्लू में मनाया जाने वाला विशेष मेला है। इसे प्रायश्चित यज्ञ भी कहा जाता है। इस मेला में नौड़ की विशेष भूमिका होती है जो मेला में पहले मरता है फिर देव कृपा से पुनः जीवित हो जाता है। यह मेला…

0 Comments

Birshu Fair (Mela) of District Kullu HP

Birshu Fair (Mela) of District Kullu HP बैशाख मास में होने वाले मेले को बिरशू कहते हैं। बिरशू मेले सारे जिला कुल्लू में होते हैं। वैशाख संक्रान्ति की पूर्व संध्या पर घरों में पकवान पकाते हैं और बहू बेटियों को भेजे जाते हैं। मंदिर में देव रथ सजाया जाता…

0 Comments

शाढ़ी जातर – जिला कुल्लू हिमाचल प्रदेश

शाढ़ी जातर - जिला कुल्लू हिमाचल प्रदेश यह उझी घाटी का एक बड़ा मेला है जो नगर में त्रिपुरा सुन्दरी के मन्दिर के सामने मनाया जाता है। यह मेला ज्येष्ठ मास में मनाया जाता है परन्तु देवी त्रिपुरा सुन्दरी की "सोह"(क्रीड़ा स्थल) शाढ़ी होने के कारण इसे शाढ़ी जातर…

0 Comments

Faagali Fair of District Kullu-Himachal Pradesh

Faagali Fair of District Kullu-Himachal Pradesh फागुन मास में मनाये जाने के कारण इस मेले को फागली कहते हैं। फागली से कुल्लू में मेलों का शुभारम्भ होता है। इसके पश्चात् दशहरा तक कुल्लू जिला के किसी क्षेत्र में हर मास कोई न कोई मेला होता रहता है। यह फागली…

0 Comments