Pandav Lake (Kaanam) – Himachal Pradesh

Pandav Lake (Kaanam) – Himachal Pradesh

पांडव झील (कानम) : किनौर जिले की पूह घाटी के अंतर्गत आने वाली कानाम से 25000 फुट की ऊँचाई में सौंदर्य एवं देखने योग्य एक झील है। यहाँ प्राचीनकाल का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। यहाँ पर देवता डबला जी और पांडवों के प्राचीनतम चिन्ह देखने को मिलते हैं। कानम गाँव के शिखर में यह झील स्थित है।

यहाँ तीर्थ यात्रा के लिए श्रद्धालु सितम्बर माह में जाते हैं। यह झील हर समय अपना रंग बदलती है। जंगलों के बीचों-बीच से यहाँ के लिए रास्ता है। अधिकतर यहाँ पर धूप के पौधे होते हैं। इसकी महक से श्रद्धालुओं का मन मोहक हो जाता है।

यहाँ के लिए श्रद्धालु अपने साथ रात्रि और सुबह के लिए भोजन साथ ले जाते हैं और अपने साथ सातू ले जाते जो कि रास्ते में फुवाल बनाते हैं , (सातू का हलवा ) इसे सबको खिलाते हैं और इसके साथ घी भी देते हैं। श्रद्धालु वहां नाचते हैं।

इसके पश्चात वहां से सब श्रद्धालु झील की ओर चल पड़ते हैं। सुबह होते-होते श्रद्धालु झील के पास पहुँचते हैं। सुबह के समय झील को देखने का आनंद कुछ और ही आता है। चांदनी की रोशनी से यह झील ऐसी लगती है मानो यह चांदी से बनी है।

इस झील के बारे में अलग-अलग विचार है। कुछ लोगों का कहना है कि यह झील प्रकृति की बनी है ,कुछ का कहना है कि यह झील पांडवों ने बनाई है। जब पांडव यहां आए थे ,तब यह झील उन्होंने बनाई थी।

इस झील के साथ एक दूसरी झील है। कहा जाता है कि यह झील द्रोपदी की है। इस झील के लिए अनेक श्रद्धालु आते हैं। यहाँ पर हर श्रद्धालु की मनोकामना पूर्ण होती है। इस झील के चारों ओर अनेक प्रकार के फूल खिले होते हैं।

Pandav Lake (Kaanam) – Himachal Pradesh

Read Also : Art and Culture of Himachal Pradesh

Leave a Reply