Pradhan Mantri Garib Kalyaan Yojana

Pradhan Mantri Garib Kalyaan Yojana (प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना)

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का आरम्भ दिसंबर 2016 को किया गया था। कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए अब इस योजना के अंतर्गत अनेक कार्यक्रमों को शामिल किया जिसमें गरीब जनता को अनेक रूपों में आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। ताकि इस महामारी में गरीब जनता को आर्थिक दृष्टि से कोई परेशानी न हो। केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने ‘कोरोना वायरस’ के खलाफ लड़ाई लड़ने में मदद करने के उद्देश्य से गरीबों के लिए ” प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना ” के तहत 1.70 लाख करोड़ रूपये वितरित किए। इस योजना के तहत निम्नलिखित उपाय सम्मिलित है :-

  1. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज : सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य कर्मियों के लिए बीमा योजना का प्रबंध किया गया। सफाई कर्मचारी , वार्ड-ब्यॉय , नर्स , आशा कार्यकर्त्ता , सहायक स्वास्थ्य कर्मी ( पैरामेडिकल ) , तकनीशियन , डॉक्टर और विशेषज्ञ एवं अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता जो सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों , वेलनेस सेंटरों और केंद्र के साथ-साथ राज्यों के अस्पतालों में कोविड- 19 मरीजों का इलाज करते समय अगर दुर्घटना का शिकार होते हैं उन्हें इस योजना के तहत 50 लाख का मुआवजा दिया जाएगा। इसके तहत लगभग 22 लाख स्वास्थ्य कर्मियों को बीमा कवर प्रदान किया जाएगा।
  2. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना : इस योजना के तहत देश के 80 करोड़ लोगों को तीन महीने तक प्रत्येक व्यक्ति को मौजूदा निर्धारित अनाज के मुकाबले दोगुना अन्न दिया जाएगा। यह अतिरिक्त अनाज मुफ्त मिलेगा। ताकि कोविड-19 की इस विपत्ति की बजह से खाद्यान्नों की अनुपलब्धता के कारण कोई भी गरीब परिवार बिना भोजन के न रहे। इसके तहत सभी व्यक्तियों को प्रोटीन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए अगले तीन महीनों के दौरान क्षेत्रीय प्राथमिकताओं के अनुसार प्रत्येक परिवार को 1 किलो दालें दी जाएगी। ये दालें भारत सरकार द्वारा मुफ्त दी जाएगी।
  3. किसानों को लाभ : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 2020-21 में देय 2,000 रूपये की पहली किस्त 7 करोड़ किसानों को अप्रैल 2020 में ‘प्रधानमंत्री किसान योजना ‘ के तहत खाते में डाले गए।
  4. नगद राशि हस्तांतरण : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत कुल 40 करोड़ प्रधानमंत्री जन धन योजना महिला खाता धारकों को तीन महीनों के दौरान प्रति माह 500 रुपए की अनुग्रह राशि दी जाएगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत अगले तीन महीनों में 8 करोड़ गरीब परिवारों को गैस सिलेंडर मुफ्त में दिए जाएंगे। इसके तहत पैसा सीधे बैंक खातों में हस्तांतरण किया जाएगा।
  5. संगठित क्षेत्रों में कम पारिश्रमिक पाने वालों को मदद :प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 100 से कम कामगारों वाले प्रतिष्ठानों में प्रति माह 15,000 रुपए से कम पारिश्रमिक पाने वालों को अपना रोजगार खोने का खतरा है। उन्हें अगले तीन महीनों के दौरान उनके पीएफ खातों में उनके मासिक पारिश्रमिक का 24 प्रतिशत भुगतान किया जाएगा।
  6. वरिष्ठ नागरिकों , विधवाओं और दिव्यांगजनों के लिए सहायता : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत लगभग 3 करोड़ वरिष्ठ नागरिकों ( 60 वर्ष से अधिक ) , विधवाओं और दिव्यांगजनों को सरकार अगले तीन महीनों के दौरान कठिनाइयों से निपटने के लिए उन्हें 1,000 रूपये देगी।
  7. मनरेगा मजदूरी में बृद्धि : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1 अप्रैल ,2020 से मनरेगा मजदूरी में 20 रूपये की बढ़ोतरी की गई। इस बढ़ोतरी के बजह से मनरेगा के तहत मजदूरी बढ़ने से प्रत्येक श्रमिक को सालाना 2000 रुपये का अतिरिक्त लाभ होगा। इससे लगभग 62 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे।
  8. स्वयं सहायता समूह कल्याण : स्वयं सहायता समूह को ए जमानत (कोलैटरल ) मुफ्त ऋण देने की सीमा में बृद्धि की गई। अब यह सीमा 10 लाख रूपये से बढ़ाकर 20 लाख रूपये कर दी गई। देश के 63 लाख स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से संगठित महिलाएं 85 करोड़ परिवारों को आवश्यक सहयोग देती है।
  9. भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण कोष के श्रमिकों को आर्थिक सहायता : भवन और अन्य निर्माण श्रमिकों के लिए कल्याण कोष ‘ केंद्र सरकार के एक अधिनियम के तहत बनाया गया है इसमें लगभग 3.5 करोड़ पंजीकृत श्रमिक है। केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को इस कोष का उपयोग करने के निर्देश दिए गए है ताकि वे इन श्रमिकों को आर्थिक मुश्किलों से बचाने के लिए आवश्यक सहायता और सहयोग प्रदान कर सकें।

Pradhan Mantri Garib Kalyaan Yojana

Read more : Weekly Current Affairs

Download PIB Press Release : Click Here

Leave a Reply