Mukhya Mantri Ek Bigha Yojna -HP

Mukhya Mantri Ek Bigha Yojna -HP (मुख्यमंत्री एक बीघा योजना)

मुख्यमंत्री एक बीघा योजना , CM EK Bigha Yojna

योजना का नाममुख्यमंत्री एक बीघा योजना
शुभारंभ किया गयामुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के द्वारा
शुभारंभ करने की तिथि21 मई 2020
राज्यहिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने 21 मई ,2020 को शिमला से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य में अभिनव और महत्वाकांक्षी योजना ‘‘मुख्यमंत्री एक बीघा योजना’’ का शुभारम्भ किया।

इस योजना में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) को जोड़कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की परिकल्पना की गई है।

इस योजना के तहत एक महिला या उसका परिवार जिनके पास एक बीघा (या 0.4 हेक्टेयर) तक की भूमि है, वह सब्जियों और फलों को उगाने के लिए बैकयार्ड किचन गार्डन तैयार कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री एक बीघा योजना का उद्देश्य : मनरेगा और स्वच्छ भारत मिशन का अभिसरण कर ग्रामीणों को किचन गार्डनिंग के लिए प्रोत्साहित करना। ग्रामीण आर्थिकी में बदलाव लाना और जमीनी स्तर पर महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण करना।

मुख्यमंत्री एक बीघा योजना CM Ek Bigha Yojna

मुख्यमंत्री एक बीघा योजना
मुख्य बिंदु : इस योजना के अंतर्गत शाक वाटिका (kitchen Garden ) का निर्माण के लिए एक लाख रूपये तक के विभिन्न कार्यों ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संगठित स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं के लिए मनरेगा योजना में पूर्व अनुमोदित व स्वीकृति किए गए हैं
अनुमोदित कार्य : भूमि सुधार ,नर्सरी उत्पादन ,पौधारोपण ,केंचुआ खाद गड्डा निर्माण ,अजोला पिट निर्माण ,जल सरंक्षण संरचना निर्माण
पात्रता : संबंधित महिला का परिवार के पास कृषि योग्य भूमि हो एवं हिमाचल प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ,ग्रामीण विकास विभाग ,हिमाचल के प्रदेश अंतर्गत स्वयं सहायता समूह की सदस्य हो एवं मनरेगा जॉब कार्ड धारक हो।

मुख्यमंत्री एक बीघा योजना योजना में 5,000 स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से लगभग 1.50 लाख महिलाएं शामिल होंगी।

इस योजना (मुख्यमंत्री एक बीघा योजना )के तहत प्रत्येक लाभार्थी महिला को मनरेगा के तहत रोजगार पाने का अधिकार होगा। इसके अलावा महिलाओं के कौशल को बढ़ाने के लिए उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा । इस योजना के तहत पहाड़ी भूमि को समतल करने, पानी को चैनेलाइज करने, वर्मी कम्पोस्ट पिट स्थापित करने और पौधे और बीज खरीदने के लिए अनुदान दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी ने योजनाकारों को विकासात्मक योजनाओं के बारे में पुनर्विचार करने के लिए मजबूर किया है, ताकि विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित किया जा सके। इस उद्देश्य के साथ सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों के पुनरूत्थान के लिए ‘‘मुख्यमंत्री एक बीघा योजना’’ आरम्भ की है।

आरम्भ में इस योजना के तहत लगभग पांच हजार परिवार शामिल किए जाएंगे। संबंधित पंचायतें, प्रस्ताव प्राप्त करने के बाद उनको मनरेगा शैल्फ में शामिल करने के लिए खंड विकास अधिकारी को भेजेंगी।

इस योजना का उद्देश्य मनरेगा और स्वच्छ भारत मिशन का अभिसरण कर ग्रामीणों को किचन गार्डनिंग के लिए प्रोत्साहित करना है। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूहों को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। सभी स्वयं सहायता समूह जो जाॅब कार्ड धारक हैं, वह इस योजना के तहत एक लाख रुपए का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इस योजना के तहत लगभग 1.50 लाख महिला सदस्य लाभान्वित होंगी।
इस योजना के तहत पात्र महिलाएं 40,000 रूपये का अनुदान पाने की हकदार होंगी और कंकरीट वर्मी कम्पोस्ट पिट बनाने के लिए 10,000 रुपये अनुदान दिया जाएगा

‘‘मुख्यमंत्री एक बीघा योजना’’ के लिए 2000 महिला स्वयं सहायता समूहों ने किया आवेदन मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने 06/06/2020 को कहा कि राज्य सरकार ने हाल ही में राष्ट्रीय ग्रामीण मिशन और मनरेगा के अभिसरण से ‘‘मुख्यमंत्री एक बीघा योजना’’ आरंभ की है। अभी तक 2000 महिला स्वयं सहायता समूहों ने इस योजना के अंतर्गत आवेदन किया है। सरकार ग्रामीण गरीबों को न्यूनतम वेतन से अधिक देने के लिए औपचारिक क्षेत्र में कौशल और रोजगार प्रदान करने पर विशेष बल दे रही है।

Mukhya Mantri Ek Bigha Yojna -HP , CM Ek Bigha Yojna

Read Also : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

Leave a Reply