Baghal Praja Mandal | बाघल प्रजा मण्डल

  • बाघल के कुछ लोग शिमला में नौकरी करते थे।
  • उन्होंने 11 अगस्त 1938 को जीवणुराम चौहान की अध्यक्षता में एक बैठक की और बाघल प्रजामण्डल की स्थापना की।
  • मन्शा राम चौहान को इस प्रजा मण्डल का मंत्री बनाया गया।
  • इसका उद्देश्य लोगों मे अपने अधिकारों के बारे में जागृति पैदा करना था।
  • इस भावना को लेकर पंडित भास्करानन्द ने भज्जी में सूरत राम प्रकाश ने ठियोग में तथा भागमल सौहटा ने जुब्बल में प्रजामण्डलों का गठन किया।
  • जुब्बल रियासत में प. मस्त राम जिया लाल शरखोली और राम सरन प्रजा मण्डल के सक्रिय सदस्य बने।
  • रियासत कोटी, कुम्हारसेन और बुशहर में भी इसी प्रकार के प्रजामण्डलों के गठन का कार्य आरम्भ हुआ।

Baghal Praja Mandal | बाघल प्रजा मण्डल

Read Also : History of Himachal Pradesh

Leave a Reply