Bushahar Praja Mandal | बुशैहर प्रजा मण्डल

Bushahar Praja Mandal | बुशैहर प्रजा मण्डल

  • बुशहर प्रजा मण्डल को 1945 ई. में पुनः सक्रिय कर दिया गया।
  • इस अवधि में बुशहर की और संस्थाओं जैसे ‘बुशहर सुधार सम्मेलन “बुशहर प्रेम सभा’ और ‘सेवकमण्डल दिल्ली में भी बुशहर के लोगों को संगठित किया।
  • पंडित पद्मदेव ने शिमला में इसके लिये कार्य किया और रियासत के भीतर पंडित घनश्याम और सत्यदेव बुशहरी और अन्य कईयो ने इनको सहयोग दिया।
  • बाद के वर्षों में ठाकुर सेन नेगी ने भी प्रजा मण्डल में सक्रिय रूप से भाग लेना आरम्भ कया।
  • इसके साथ-साथ ही बिलासपुर, जुब्बल और अन्य क्षेत्र के प्रजा मण्डलों ने भी अपनी-अपनी गतिविधियां तेज कर दी।
  • इसमें जुब्बल के भागमल सौहटा और बिलासपुर के दौलत राम सांख्यान ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया।
  • इसके ही कारण भागमल सौहटा को पकड़ कर जेल भेज दिया गया, पहले अम्बाला में और फिर मुलतान जेल में रखा गया।

Bushahar Praja Mandal | बुशैहर प्रजा मण्डल

Read Also : History of Himachal Pradesh

Leave a Reply