Dhami Prempracharini Sabha | धामी प्रेमप्रचारणी सभा

Dhami Prempracharini Sabha | धामी प्रेमप्रचारणी सभा

  1. धामी रियासत के शिमला नगर के निकट होने के कारण यहां के बहुत से लोग शिमला में नौकरी करते थे।
  2. उन्होनें अपनी रियासत मे सुधार लाने के उद्देश्य से 1937 ई. में एक “प्रेम प्रचारिणी सभा” बनाई
  3. शिमला में कार्यरत बाबा नारायण दास को इसका अध्यक्ष.
  4. पंडित सीताराम को मंत्री बनाया।
  5. आरम्भ में इसका उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक सुधार था परन्तु बाद मे राजनैतिक प्रश्न भी सामने आने लगे और आन्दोलन की बात होने लगी।

Dhami Prempracharini Sabha | धामी प्रेमप्रचारणी सभा

Read Also : History of Himachal Pradesh

Leave a Reply